Posts

Showing posts from July, 2011

वो प्यार कहाँ रे.............

Image
बरसे हैं मेरे नयन
पर बहार कहाँ रे
तूँ जो मुझसे कहता था
वो प्यार कहाँ रे.

नयनन स्नेह रस
झर-झर जाए
तुझको मेरी सुध कहाँ
वो प्यार कहाँ रे.

मैं जागा रात भर
तू सोये नींद भर
जागी जागी रातों का
वो प्यार कहाँ रे.

सोच के डब्बे

Image
हमइंसानहै
हमारीसोच
हमारेचारोतरफकिबातोंपरनिर्भरकरतीहै
बचपनसेलेकरअबतककी
सारीबातोंपर
हमसोचऔरविचारके डब्बों मेंबंदहोतेहैं
कुछबहुतबड़ेडब्बोंमेंबंदहैं
कुछबड़ेडब्बोंमें
कुछछोटे
औरकुछबेहदछोटेडब्बोंमें
डिब्बोंकाआकरहमारेआयामतयकरताहै
कईबारहमअपनेचारोतरफ के इस डब्बे कोलोहेसामजबूतबनादेतेहैं
औरउससेबहारनहींआनाचाहते
हाँकईबारदीवारेंकितनीमजबूतहों
वक़्तकेसाथहमारीसोचबदलतीहै
औरएकदिनहमउनसेबहारआहीजातेहैं
यहाँमैंनेजोलिखा
वोमेरेउपरभीलागूहै
बिलकुलउसीतरह
परहमसभीकोतोडनीहै
येदीवारें
औरबनालेंगेएकरास्ता
एकदिनयेहोगाजरूर..........