Tuesday, 26 March 2013

शुभ होली
















हंस हंस के
फिर हँसी ठिठोली

उड़ी गुलाल
रंग भी घोली

चिल्ला के
बच्चों की टोली

बोली ज़ोर से
फिर ये बोली

बचना मना
न दो अब गोली

रंग पड़ेगा तब बोलेंगे
शुभ होली-शुभ होली

12 comments:

  1. होली की महिमा न्यारी
    सब पर की है रंगदारी
    खट्टे मीठे रिश्तों में
    मारी रंग भरी पिचकारी
    होली की शुभकामनायें

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत शुभकामनाएं होली की!!!

      Delete
  2. होली की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको भी होली की शुभकामनाएं!!!

      Delete
  3. हुई ठिठोली बस हो ली होली

    ReplyDelete
    Replies
    1. सहृदय आभार,
      शुभकामनाएं|

      Delete
  4. होली मुबारक
    आपकी पोस्ट कल के चर्चा मंच पर है

    ReplyDelete
    Replies
    1. होली की शुभकामनाएं!!!
      बहुत बहुत आभार, रचना लोगों तक पहुँचाने के लिए!!!

      Delete


  5. हृदयस्पर्शी भावपूर्ण प्रस्तुति.बहुत शानदार भावसंयोजन .आपको बधाई.होली की हार्दिक शुभ कामना .


    ना शिकबा अब रहे कोई ,ना ही दुश्मनी पनपे
    गले अब मिल भी जाओं सब, कि आयी आज होली है

    प्रियतम क्या प्रिय क्या अब सभी रंगने को आतुर हैं
    हम भी बोले होली है तुम भी बोलो होली है .

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुभ विचारों के साथ सुभ होली!!
      आप को भी होली की शुभकामनाएं!!

      Delete

  6. बहुत सुन्दर।। होली की हार्दिक शुभकामनाएं
    पधारें कैसे खेलूं तुम बिन होली पिया...

    ReplyDelete
    Replies
    1. होली की शुभकामनाएं!!

      Delete

सुंदर पुरुष, बहादुर स्त्रियाँ

धीरे-धीरे मुझे ये यक़ीन हो गया है की दुनिया के सारे सुंदर पुरुष खाना पकाने में कुशल होते हैं क्यों की सुंदर वही होता है जो भीतर मन से पका ह...