Monday, 13 July 2015

ज़िन्दगी एक सफ़र होता है

ज़िन्दगी एक सफ़र होता है;
सबकी बातों का असर होता है।

प्यार के लफ़्ज़ कह कर देखो;
दिल को सुकून-ए-नज़र होता है।

तुम ठहर लो कहीं भी लेकिन;
घर तो आख़िर घर ही होता है।

टूटता है दिल तो दर्द बहुत होता है;
कोई जान कर भी बेख़बर ही होता है।

हम ने देखे, अपने, पराये भी;
मौत आये तो कौन किधर होता है।

लोग मिलने तो आया करेंगे लेकिन;
जाने दिल कौन सा रंग लिये होता है।

तुम 'मुसाफ़िर' हो तुम नहीं रूकना;
मौत से पहले ख़त्म सफ़र कहाँ होता है।

सुंदर पुरुष, बहादुर स्त्रियाँ

धीरे-धीरे मुझे ये यक़ीन हो गया है की दुनिया के सारे सुंदर पुरुष खाना पकाने में कुशल होते हैं क्यों की सुंदर वही होता है जो भीतर मन से पका ह...